LATEST ARTICLES

Savarkar exposes true nature of Shaukat Ali

• Savarkar met Shaukat Ali, the famous Muslim leader in Mumbai in November 1924. Their conversation is worth reading : Shaukat Ali : “...

आंतरिक संकट – कम्युनिस्ट

साम्यवाद के लिए भूमि की तैयारी अंग्रेज के इस देश को छोड़कर जाने के पश्चात् जब हम अपने राष्ट्र की भावी रचना को आकार देने...

डॉ. केशवराम बलिराम हेडगेवार : हमारे मूर्तिमान आदर्श

जन्मजात देशभक्त राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संस्थापक डा. केशव बलीराम हेडगेवार का जन्म नागपुर में १८८६ में हुआ। अपने बाल्य-काल से अन्तिम क्षण पर्यन्त उनका...

Savarkar’s views on Hindu-Muslim relations

Savarkar's views on Hindu-Muslim relations Savarkar's views on Hindu-Muslim relations are a result of his study of Islamic scriptures, a deep insight into historical events,...

The last wish of Veer Savarkar

The last wish of Veer Savarkar If possible, please send my dead body in electric creamatorium only ! And not by lifting on shoulders of...

हिंदू-राष्ट्र स्थापित हो गया, तो अल्पसंख्यकों का जीवन संकटापन्न हो जाएगा?

हिंदू-राष्ट्र की अवधारणा अति सहिष्णु व विवेकसम्मत होते हुए भी यह आश्चर्यजनक है कि कुछ लोग भयग्रस्त हैं कि यदि हिंदू-राष्ट्र स्थापित हो गया,...

क्या मुसलमान और ईसाइयों को हिंदू राष्ट्र से बाहर निकाल दिया जाएगा ?

कुछ लोगों का अनुमान है कि हिंदू-राष्ट्र की कल्पना मुसलमान तथा ईसाई नागरिकों के अस्तित्व के लिए चुनौती है, वे निकाल बाहर किए जाएंगे...

मातृभूमि-पुरातन भावना

मातृभूमि-पुरातन भावना वास्तव में 'भारत' नाम ही निर्देश करता है कि यह हमारी मां है। हमारी सांस्कृतिक परम्पराओं के अनुसार किसी महिला को पुकारते की...

Communism and Freudism – Veer Savarkar

Communism and Freudism Communists want to emphasise that all the literature (in Marathi and other languages) is a result of the economic struggle between the...

स्वराज्य की सीधी राह – वीर सावरकर

स्वराज्य की सीधी राह प्रिय मित्रो ! मैं बंगाल में अपने जीवन में प्रथम बार ही आया हूँ। अतः इस प्रांत की कठिनाईयों का मुझे...