Friday, December 9, 2022
Home Tags Savarkar

Tag: Savarkar

veer savarkar's biography by rash behari bose

Veer Savarkar’s biography by Rash Behari Bose

Part IDAI AJIA SHUGIMARCH 1939 ISSUEASIATIC SOCIETY TOKYO PUBLICATION Savarkar, a Rising Leader of New India– Rash Behari Bose On June 25, 1937VD Savarkar...

स्वराज्य की सीधी राह – वीर सावरकर

स्वराज्य की सीधी राह प्रिय मित्रो ! मैं बंगाल में अपने जीवन में प्रथम बार ही आया हूँ। अतः इस प्रांत की कठिनाईयों का मुझे...

Veer Savarkar a misunderstood hero !

I had to write this cause serious propaganda is spreading against this man! So who was savarkar and what's his contribution?

गांधी की हत्या ( वीर सावरकर जी की जीवनी )

★ गांधी की हत्या स्वतंत्रता के बाद भी हिंसा बेरोकटोक जारी है। पंजाब के दो हिस्सों से हिंदुओं और मुसलमानों का पलायन हुआ। ...

स्वतंत्रता की ओर ( वीर सावरकर जी की जीवनी )

★ स्वतंत्रता की ओर · भारत के भाग्य की घोषणा करने के लिए आया कैबिनेट मिशन भारत का एक संप्रभु देश होना चाहिए। कांग्रेस...

कांग्रेस की जाँच (वीर सावरकर जी की जीवनी)

★ कांग्रेस की जाँच 1939 में, सावरकर ने हैदराबाद के निज़ाम के खिलाफ एक सफल सविनय अवज्ञा आंदोलन शुरू किया। · WWII के साथ, सरकार ने...

हिन्दू महासभा चरण ( वीर सावरकर जी की जीवनी )

★ हिन्दू महासभा चरण इस समय भारत का संविधान सांप्रदायिक था; हिंदू केवल हिंदुओं को वोट दे सकते हैं, मुसलमानों को मुसलमानों के लिए और...

रत्नागिरी में सामाजिक क्रांति, भाग 2 ( वीर सावरकर जी की जीवनी )

★ रत्नागिरी में सामाजिक क्रांति, भाग 2 सामाजिक सुधार के लिए सावरकर का उत्साह मानवतावाद के प्रति उनके विश्वास से उपजा था। वह सामाजिक...

अंतिम कुछ वर्षों का अंतर्द्वंद ( वीर सावरकर जी की जीवानी )

★ अंतिम कुछ वर्षों का अंतर्द्वंद · सावरकर ने सरकार को रिहा करने के लिए कई याचिकाएँ दायर कीं। उन्होंने कहा कि यह एक...

अंडमान में उपलब्धियां ( वीर सावरकर जी की जीवनी )

★ अंडमान में उपलब्धियां आराम नियमों के साथ, सावरकर ने कई कारणों को सफलतापूर्वक लिया: (१) जेल में जबरन धर्म परिवर्तन पर रोक लगाना, युवा अपराधियों...

Recent Posts

Popular Posts

Jayostute Poem with Hindi and English translation

जयोस्तुते श्रीमहन्मंगले ! शिवास्पदे शुभदे स्वतंत्रते भगवती ! त्वामहं यशोयुतां वंदे राष्ट्राचे चैतन्य मूर्त तू नीती-संपदांची स्वतंत्रते भगवती ! श्रीमती राज्ञी तू त्यांची परवशतेच्या नभात तूची आकाशी होसी स्वतंत्रते...