Home Veer Savarkar Chronology सावरकर के जीवन का घटनाक्रम

सावरकर के जीवन का घटनाक्रम

© Rising Hindutva

➞घटनाक्रम

★सावरकर के जीवन का घटनाक्रम

© Rising Hindutva
  • २८ मई १८८३ – भगूर में जन्म,महाराष्ट्र के नासिक जिल्ले का एक छोटा सा गांव। १८९२ में अपनी माता राधाबाई को खो दिया।
  • १८९८ – ब्रिटिश राज के विरुद्ध सशस्त्र विद्रोह करने के लिए परिवार के देवता के समक्ष शपथ ली।
  • ९ सप्तम्बर १८९८ – अपने पिता दामोदरपंत को खो दिया।
  •  १ जनवरी १९०० – मित्र मेला, एक गुप्त क्रांतिकारी की स्थापना की।
  • १ मार्च १९०१ – यमुना से विवाह किया।
  • १९ दिसंबर १९०१ – मैट्रिक की परीक्षा उत्तीर्ण की।
  • २४ जनवरी १९०२ – फर्ग्यूसन कॉलेज, पुणे में दाखिला लिया।
  • मई १९०४ – अभिनव भारत की स्थापना की – एक क्रांतिकारी संगठन।
  • नवंबर १९०५ – पुणे में विदेशी कपड़ों का पहला सार्वजनिक अलाव का आयोजन किया।
  • दिसंबर १००५ – B.A. की परीक्षा उत्तीर्ण की।
  • जून १९०६ – लंदन से निकले।
  • १० में १९०७ – १८५७ में लंदन में भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की स्वर्ण जयंती मनाई गयी।
  • जून १९०७ – "जोसफ माजिनी" पुस्तक लिखी जो बाद में बाबाराव सावरकर द्वारा प्रकाशित की गई थी।
  • १९०८ –  इंडियन वॉर ऑफ़ इंडिपेंडेंस लिखा। यह हॉलैंड में गुप्त रूप से प्रकाशित हुई थी।
  • मई १९०९ – बार-एट-लॉ की परीक्षा उत्तीर्ण की, लेकिन अभ्यास करने की अनुमति देने से इनकार कर दिया गया।
  • १ जुलाई १९०९ – मदनलाल ढींगरा ने लंदन में कर्जन वायली की गोली मारकर हत्या कर दी।
  • २४ अक्टूबर १९०९ – विजयादशमी लंदन के इंडिया हाउस में गाँधी की अध्यक्षता में मनाई गई।
  • १३ मार्च १९१० – पेरिस से लंदन आने पर गिरफ़्तार किया गया।
  • ०८ जुलाई १९१० – भारत ले जाते समय S.S. मोरिया के पोरथोल के माध्यम से सुरक्षित निकल जाना।
  • २४ दिसम्बर १९१० – लाइफ के लिए ट्रांसपोर्टेशन से सम्मानित।
  • ३१ जनवरी १९११ – दूसरी बार जीवन के लिए परिवहन का पुरस्कार, ब्रिटिश साम्राज्य के इतिहास में एकमात्र व्यक्ति जिसने इसे दो बार प्राप्त किया।
  • ०४ जुलाई १९११ – अंदमान के सेलुलर जेल में प्रवेश किया।
  • अप्रैल १९१९ – येसुवाहिनी, उनके बड़े भाई की पत्नी का निधन।
  • २१ मई १९२१ – दोनों भाई मुख्य भूमि पर वापस आ गए।
  • १९२१ – १९२३ – अलीपुर और रत्नागिरी जेलों में स्थित।
  • ०६ जनवरी १९२४ – यरवदा जेल से रिहा किया गया और इस शर्त पर रत्नागिरी में नजरबंद किया गया की वह राजनीति में भाग न ले।
  • ०७ जनवरी १९२५ – बेटी प्रभात का जन्म हुआ।
  • १० जनवरी १९२५ – आर्य समाज के स्वामी श्रद्धानंद की स्मृति में एक नया साप्ताहिक “श्रद्धानंद”  लॉन्चकिया गया।
  • मार्च १९२५ – डॉ.हेडगेवार, जो बाद में RSS की स्थापना करने वाले थे, सावरकर से मिले।
  • ०१ मार्च १९२७ – गांधी ने सावरकर को रत्नागिरी में बुलाया।
  • १७ मार्च १९२८ – बेटा विश्वास का जन्म हुआ।
  • १६ नवंबर १९३० – सामाजिक सुधार अभियान के एक हिस्से के रूप में पहला अंतर भोजन आयोजित की गया।
  • फरवरी १९३१ – पतितपावन मंदिर की स्थापना में सभी हिंदुओं का हाथ हे।
  • २५ फरवरी १९३१ – बॉम्बे प्रेसीडेंसी अस्पृश्यता उन्मूलन सम्मलेन की अध्यक्षता की।
  • २६ अप्रैल १९३१ – पतितपावन मंदिर के परिसर में सोमवंशी महार परिषद् के अध्यक्ष।
  • १७ सितम्बर १९३१ – भंगी जाती से सम्बंधित एक व्यक्ति द्वारा कीर्तन जैसे कार्यक्रम आयोजित किए गए।
  • २२ सितम्बर १९३१ – नेपाल के राजकुमार, हेम बहादुर समशेर सिंह ने सावरकर को बुलाया।
  • १० मई १९३७ – रत्नागिरी में इंटर्नशिप से बिना शर्त रिहाई।
  • १० दिसंबर १९३७ – कर्णावती (अहमदाबाद) में अपने १९ वे सत्र में अखिल भारतीय हिन्दू महासभा के अध्यक्ष के रूप में चुने गए और अगले ७ वर्षो के लिए फिर से राष्ट्रपति चुने गए।
  • १५ अप्रैल १९३८ – मराठी साहित्य सम्मलेन के अध्यक्ष के रूप में चुने गए।
  • ०१ फरवरी १९३९ – भागनगर (हैदराबाद) के निज़ाम के विरुद्ध निहत्था प्रतिरोध शुरू किया।
  • २२ जून १९४१ – नेताजी सुभास चंद्र बोस ने सावरकर को बुलाया।
  • २५ दिसंबर १९४१ – भागलपुर संघर्ष।
  • मई १९४३ – ६१ वीं जयंती के अवसर पर सार्वजनिक अभिनन्दन।
  • १४ अगस्त १९४३ – नागपुर विश्वविद्यालय ने सावरकर को मानद D.Litt. से सम्म्मानित किया।
  • ०५ नवंबर १९४३ – सांगली में मराठी नाट्यसम्मेलन के अध्यक्ष बने।
  • १६ मार्च १९४५ – बड़े भाई बाबाराव के निधन हो गया।
  • १९ अप्रैल १९४५ – बड़ौदा (गुजरात) में अखिल भारतीय रियासतों की हिन्दू सभा सम्मलेन की अध्यक्षता की।
  • ०८ मई १९४५ – पुत्री प्रभात का पुणे में विवाह हुआ।
  • अप्रैल १९४६ – बॉम्बे सरकार ने सावरकर के साहित्य पर प्रतिबन्ध हटा दिया।
  • १५ अगस्त १९४७ – सावकर सदांतो पर भगवा और तिरंगा दोनों ध्वजो को फहराया और भारत की स्वतंत्रता का जश्न मनाया गया।
  • ०५ फरवरी १९४८ – गाँधी की हत्या के बाद निवारक निरोध अधिनियम के तहत गिरफ़्तार हुए।
  • १० फरवरी १९४९ – गाँधी मर्डर ट्रायल में हासिल।
  • १९ ऑक्टूबर १९४९ – सबसे छोटे भाई डॉ.नारायणराव सावरकर का निधन।
  • दिसंबर १९४९ – अखिल भारतीय हिन्दू महासभा के कलकत्ता अधिवेशन का उदघाटन।
  • ०४ अप्रैल १९५० – दिल्ली में पाकिस्तान के प्रधान मानती लियाकत अली के आगमन की पूर्व संध्या पर बेलगाम जेल में गिरफ्तार क्र लिया गया था।
  • मई १९५२ – अभिनव भारत के विघटन की घोषणा करने के लिए पुणे में आयोजित सार्वजनिक समारोह, क्रांतिकारी समाज ने भारत को मुक्त करने के उद्देश्य को प्राप्त किया।
  • फरवरी १९५५ – रत्नागिरी में पतितपावन मंदिर के रजत जयंती समारोह की अध्यक्षता की।
  • २३ जुलाई १९५५ – पुणे में लोकमान्य तिलक शताब्दी समारोह में मुख्य वक्त थे।
  • १० नवंबर १९५७ – १८५७ में नई दिल्ली में आयोजित भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के शताब्दी समारोह में मुख्य वक्त।
  • २८ मई १९५८ – उनके हीरा जयंती के अवसर पर ग्रेटर बॉम्बे म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन द्वारा एक नागरिक स्वागत समारोह आयोजित किया गया।
  • ०८ ऑक्टूबर १९५९ – उनके निवास पर पुणे विश्वविद्यालय ने माननीय D.Litt. से सम्मानित किया गया।
  • २४ दिसंबर १९६० – मृत्युंजय दिवस समारोह – जीवन के लिए लिए दो परिवहन के वाक्यों को पूरा करने के बाद सावरकर की रिहाई के लिए एक दिन निर्धारित किया गया।
  • १५ अप्रैल १९६२ – बॉम्बे के गवर्नर श्री प्रकाश ने सावरकर को उनका सम्मान देने के लिए बुलाया।
  • २९ मई १९६३ – पैर में फ्रैक्चर के कारण अस्पताल में भर्ती कराया गया।
  • ०८ नवंबर १९६३ – सावरकर की पत्नी यमुना का निधन हो गया।
  • सितम्बर १९६५ – गंभीर रूप से बीमार हो गए।
  • ०१ फरवरी १९६६ – आमरण अनशन (आत्मार्पण) का फैसला लिया।
  • २६ फरवरी १९६६ – सुबह १०.३० बजे, ८३ वर्ष की आयु में , सावरकर ने अपनी मृत्यु का तार छोड़ दिया।
  • २७ फरवरी १९६६ – विद्युत शवदाह गृह में अंतिम संस्कार, R.S.S. के २५०० वर्दीधारी स्वयंसेवकों और पुरे देश में लाखो प्रशंसक द्वारा अंतिम सलामी दी गयी।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here